www.gkmob.com

तुलसीदास का जीवन परिचय

Hamen maloom hai Aap Tulsidas Ka Jivan Parichay internet par dhoodh rahe hain. To bus aapki khoj samapt hui. Neechey Tulsidas Ka Jivan Parichay hai usey padhiye aur yd kariye.

तुलसीदास जी का जन्म संवत 1589 को हुआ था.ऐसा माना जाता है की तुलसीदास जी का जन्म उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के राजापुर नामक एक छोटे से गांव में हुआ था इनका बचपन बड़े दुखों से गुजरा.इनके पिता आत्माराम दुबे तथा माता का नाम हुलसी देवी थी, कुछ विद्वान इनका जन्म स्थान  एटा जिले के सोरो नामक ग्राम में मानते हैं अतः विद्वान के प्रमाण स्वरूप इनकी जन्म स्थान में राजापुर ग्राम को अधिक प्रमाणित. 

तुलसीदास जी का विवाह दीनबंधु पाठक की पुत्री रत्नावली से हुआ था और वह अपनी पत्नी से अत्यधिक प्रेम करते थे. एक बार की बात है जब उनकी पत्नी रत्नावली अपने मायके गई थी तो उनके प्रेम में लीन होकर तुलसीदास जी आधी रात को अपने ससुराल जा पहुंचे, ससुराल पहुंचते ही उनकी पत्नी रत्नावली ने तुलसीदास को फटकार लगाई. इस प्रकार अपने जीवन को परिवर्तित करके पत्नी के उपदेश से तुलसीदास के मन में वैराग्य उत्पन्न हो गया और अपने गुरु बाबा नरहरिदास के सहारे अपनी शिक्षा ली,और इस प्रकार अपना अधिकार जीवन चित्रकूट, काशी, तथा अयोध्या में बिताए. 

For Latest Questions : Click Here