www.gkmob.com

अन्योक्ति अलंकार को उदाहरण

नहिं पराग नहिं मधुर मधु, नहिं विकास एहि काल। अली कली ही सो बिंध्यौ, आगे कौन हवाल.

Similar to Anyokti alankar ke udaharan

For Latest Questions : Click Here