www.gkmob.com

खग कुल कुल कुल सा बोल रहा में कौन सा अलंकार है

khag kul kul kul sa bol raha खग कुल कुल कुल सा बोल रहा में अलंकार : इसमें यमक अलंकार है। यमक अलंकार की परिभाषा – जब कविता में एक ही शब्द दो या दो से अधिक बार आए और उसका अर्थ हर बार भिन्न हो वहां 'यमक' अलंकार होता है।

khag kul kul kul sa bol raha mein alankaar : isamen yamak alankaar hai.

Similar to Khag kul kul sa bol raha hai

For Latest Questions : Click Here